Wednesday, June 12, 2024
Wednesday, June 12, 2024
HomeBusinessसॉफ्टबैंक का भारतीय कंपनियों पर भरोसा कायम, इस बार छोटा निवेश लेकिन...

सॉफ्टबैंक का भारतीय कंपनियों पर भरोसा कायम, इस बार छोटा निवेश लेकिन जानिए कौन सी है वह कंपनी

- Advertisement -

SoftBank Invests in Go Mechanic

इंडिया न्यूज,नई दिल्ली। विदेशी कंपनियों का भारतीय कंपनियों पर निवेश करने का भरोसा मौजूदा वैश्विक हालत में भी कम होने का नाम नहीं ले रहा है। हाल में ही जापान के दिग्गज निवेशक सॉफ्टबैंक ने एक बार फिर देश की एक कंपनी पर निवेश करने की इच्छा जाहिर की है। हालांकि सॉफ्टबैंक का भारतीय कंपनियों में निवेश का यह कोई पहला मामला नहीं है इससे पहले भी यह बैंक देश की कंपनियों ने निवेश कर चुका है।

35 मिलियन डॉलर का निवेश का फैसला

दिग्गज निवेशक सॉफ्टबैंक ने भारत की कार सर्विस और रिपेय फर्म गो मैकेनिक पर निवेश की मंशा जाहिर की है। बैंक इस कंपनी पर 35 मिलियन डॉलर निवेश करने का फैसला किया है। जापानी निवेशक के विजन फंड के मुताबिक सॉफ्टबैंक का गो मैकेनिक पर 35 मिलियन डॉलर का निवेश करना एक छोटा दांव है। क्योंकि आमतौर पर सॉफ्ट बैंक भारत के स्टार्टअप में बड़ी रकम का निवेश करता है। गत वर्ष सॉफ्टैंक ने देश की कंपनियों ने 4 अरब डालर का निवेश किया है। अगर इसके देश में बड़े निवेश की बात करें तो पेटीएम और ऑनलाइन एजुकेशन कंपनी अनअकैडमी इत्यादि कंपनियां शामिल हैं।

अन्य निवेशकों ने भी किया गो मैकेनिक में निवेश

वहीं, कुछ उद्योग जानकारों का कहना है कि टेक कंपनियों की मंदी को देखते हुए सॉफ्टबैंक ने अब निवेश करने सावधानी दिखानी शुरू कर दी है। सॉफ्टबैंक की ओर से  निवेश की रकम के हिसाब से गो मैकेनिक की वैल्यू $60-70 करोड़ डॉलर लगाई जा रही है। वहीं, सोवरेन फंड खजाना और गो मैकेनिक पुराने निवेशक टाइगर ग्लोबल ने भी इस फंडिंग राउंड में गो मैकेनिक में 10 करोड़ डॉलर के निवेश का निर्णय किया है। हालांकि यह जानकारी सूत्रों से प्राप्त हुई हैं। इन कंपनियों की ओर से अभी कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

जानिए कंपनी के बारे में

उल्लेखनीय है कि गो मैकेनिक ने भारत में कार सर्विस एवं रिपेयर फार्म की शुरुआत वर्ष 2016 में थी। कंपनी ओर से मिली जानकारी के मुताबिक, गो मैकेनिक ने अब देश में 20 लाख से अधिक कारों की सर्विस कर चुकी है। हालांकि इस सर्विस पर कंपनी का कहना है कि कंपनियों के शोरूम या सर्विस सेंटर की तुलना उसकी सर्विस 40 फीसदी कम है। कंपनी का वर्तमान में सालाना राजस्व 4 करोड़ डॉलर के आस पास है।

इसको भी पढ़ें:

इसे पढ़ें: नहीं रहे पद्म भूषण से सम्मानित देश के दिग्गज कारोबारी पालोनजी मिस्त्री, मुंबई में ली आखिरी सांस

Connect With Us: Twitter | Facebook |Instagram Youtube

SHARE
Koo bird

MOST POPULAR